PMVVY

(PMVVY) प्रधानमंत्री वय वंदना योजना से पाएं रू9,250 प्रतिमाह पेंशन।

भारत में वैसे तो सिनियर सिटिजनस् के लिए बहुत सारे निवेश के पेंशन स्‍कीम उपलब्‍ध हैं। परन्‍तु PMVVY योजना आप के लिए कुछ खास है। यदि आप अपने सर्विस से रिटायर हो चुके हैं, तो आपके लिए यह स्‍कीम में निवेश करना एक बेहतर विकल्‍प है। ‘प्रधानमंत्री वय वंदना योजना’ को सन् 2017 में लांच की गई थी। और यह स्‍कीम 2020 तक बंद होने वाली थी। परन्‍तु इस स्‍कीम के लोकप्रियता को देखते हुए इसे 31 मार्च 2023 तक जारी रखा जाएगा। हो सकता है भविष्‍य में इसे और भी एक्‍सटेंड किया जाए।

सबसे पहले आपको बता दें कि इसमें निवेश आप सिर्फ LIC (Life Corporation Of India) के माध्‍यम से कर सकते हैं। निवेश करने की न्‍यूनतम राशि 1,50,000 है। तथा अधिकतम 15,00000 तक आप निवेश कर सकते हैं। PMVVY में 10 साल का लॉक-इन पिरियड होता है, जिसका मतलब आप अपने निवेश किए पैसे को 10 वर्ष बाद ही निकाल सकते हैं। परन्‍तु आप इस स्‍कीम में समय से पहले भी, निवेश की गई रकम निकाल सकते हैं। यदि निवेशक या उनकी पत्‍नी का कोई गंभीर बीमारी के लिए धन की आवश्‍यकता हो तो, या फिर निवेशक की मृत्‍यु पर भी यह लागू होगा। ध्‍यान रहे, समय पूर्व निकासी पर 2 परसेंट पेनल्‍टी का प्रावधान है।

PMVVY के लिए पात्रता।

  • सबसे पहले आप एक भारतीय नागरिक होने चाहिए।
  • आपने 60 वर्ष या इससे उपर की उम्र के हों।
  • आवेदक का रिटायरमेंट लेटर चाहे आप गवर्नमेंट आर्गनाइजेशन के एमप्‍लाई हों या प्राईवेट आर्गनाईजेशन के या कोई और।

PMVVY के लाभ।

  • ‘प्रधानमंत्री वय वंदना योजना’ के लाभ की बात करें तो इसमें आप को एक रेगुलर इनकम मिलता है, जो हर महीने, हर तीन महीने, साल मे दो बार, साल में एक बार आप जैसा ऑप्‍शन चुनते हैं।
  • अगर बात इसके इंटरेस्‍ट रेट की करें तो वर्तमान में 7.4 परसेंट के दर से दी जा रही है। सबसे खास बात इस स्‍कीम की है कि अगर भविष्‍य में इंटरेस्‍ट रेट में कोई भी बदलाव होता है तो निवेश करते समय जो इंटरेस्‍ट रेट था वही अगले 10 वर्ष के लिए बना रहता है।
  • मेच्‍योरिटी पर मिलने वाले अमाउंट पर को टैक्‍स नहीं देना होगा। (मंथली/क्‍वाटरली/इयरली/हाॅफ इयरली मिलने वाल अमाउंट टैक्‍सेबल होगा)

ऑप्‍शन के हिसाब से इंटरेस्‍ट रेट।

  • हर महीने वाली पेंशन में – 7.4 %
  • हर तीन महीने वाली पेंशन में- 7.45 %
  • हर 6 महीने वाली पेंशन में – 7.52 %
  • साल में एक बार वाली पेंशन में – 7.66 %

PMVVY के लिए आवेदन कैसे करें।

‘प्रधानमंत्री वय वंदना योजना’ में आवेदन आप ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों माध्‍यम से कर सकते हैं। इसके लिए आवेदन आप सिर्फ एलआइसी के माध्‍यम से ही कर सकते हैं। आप चाहें तो एलआईसी आफिस जाकर आवेदन कर सकते हैं। या ऑनलाइन आवेदन फार्म डाउनलोड कर एलआईसी आफिस जाकर जमा कर सकते हैं। या फिर ऑनलाइन एलआईसी की वेबसाइट पर जाकर भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

Pradhanmantri Vaya Vandana Yojana: FAQs

PMVVY में समर्पण मूल्‍य (Surrender Value) क्‍या है?

उत्तर: निवेश के बाद यदि पति/पत्‍नी में से किसी को मेडिकल इमरजेंसी की जरूरत होती है तो, इलाज के लिए निकालने वाले पैसे जो कि समयावधि से पहले 2 परसेंट कट कर मिलता है, समर्पण मूल्‍य (Surrender Value) कहा जाता है।

क्‍या ‘प्रधानमंत्री वय वंदना योजना’ में खाता समाप्ति से पहले बंद किया जा सकता है?

उत्तर: जी हां, PMVVY में निवेशक या उनकी पत्‍नी की गंभीर बीमारी के आधार पर समय से पहले खाता बंद कर पैसे निकाल सकते हैं। ऐसे में निवेश किए गए रकम पर 2 परसेंट डिडक्‍शन के साथ यानी 98 परसेंट पॉलीसी होल्‍डर को वापस कर दिया जाता है। तथा निवेशक के मृत्‍यु के मामले में भी ।

क्‍या PMVVY पर टैक्‍स लागू होता है?

उत्तर: जी हां, रेगुलर इनकम पर टैक्‍स देय है। परन्‍तु मेच्‍योरीटी पर मिलने वाली रकम टैक्‍स फ्री है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.